ऊँ शं शनैश्चराय नम:
Simple Javascript Image Gallery by WOWSlider.com v3.4


शनिदेव जी का परिचय
शनि के पिता : श्री सूर्यदेव
माता : छाया (सुवर्णा)
शनि के भाई : श्री यमराज
बहन : यमुना (ताप्ती)
गुरु : शिवजी
रंग : श्याम-कृष्ण
रूचि : आध्यात्म, कानून, कूटनीति, राजनीति
शनि का स्वभाव : गंभीर, त्यागी, तपस्वी, हठी, क्रोधी
शनि के अन्य नाम : कोणस्थ, पिंगल, बभ्रु, सौरी, शनैश्चर, कृष्णमंद, रौद्र, आतंक, यम
शनि के प्रिय सखा : कालभैरव, हनुमान जी, बुध्द, राहु
शनि की प्रिय राशि : कुंभ, मकर
आधिपाती : रात
शनि का कार्यक्षेत्र : धरती का न्यायदाता
शनि का प्रिय दिन : शनिवार, तिथि-अमावस
शनि का नक्षत्र : अनुराधा, पुष्य उत्तराभाद्र्पद
रत्न : नीलम
शनि की प्रिय वस्तुएं : काली वस्तुएं, काला कपड़ा, कड़वा तेल, गुड़, उड़द, खट्टा, कशैला पदार्थ
शनि का प्रिय धातु : लोहा, इस्पात,
शनि का व्यापार : लोहा, इस्पात, सीमेंट, कोयला, उधोग, कल-कारखाने, पेट्रोलियम, ट्रांस्फार्मर, मेडिकल, प्रेस, हार्डवेयर
शनि के रोग : वातरोग, कैंसर, सुगर, किड्नी, कुष्ट, असाध्य रोग, पागलपन, ब्लडकैंसर, त्वचा रोग
निदान : शनिवार के दिन संध्या या रात को दीन-हीन गरीब, बूढे व्यक्ति को शनि की प्रिय वस्तु दान में दे |
© Jagat singh foundatios. All rights reserved.